Jalandhar West Megh Politics

Friday, September 24, 2010

1 comments:

Bhushan said...

और कोई मुद्दा न हो तो ऐसे मुद्दों पर ही मतभेद दिखाने पड़ते हैं. वही पुरानी कहानी. अच्छी बात यह है कि मौका दशहरे का है दिवाली का नहीं.

Post a Comment